FedEx सर्वे में भारतीय छोटे एवं मध्यम उद्योगों (SMEs) को भरोसा, कोविड संबंधी पाबंदियां हटने के बाद भी जारी रहेगी ई-कॉमर्स में तेज़ी की रफ्तार

नवभास्कर न्यूज.नई दिल्ली(योगेश अग्रवाल):  FedEx कॉर्प (NYSE: FDX) की सहयोगी कंपनी और दुनिया की सबसे बड़ी ट्रांसपोर्टेशन कंपनियों में से एक FedEx एक्सप्रेस ने भारत के छोटे एवं मध्यम उद्योगों (SME) पर केंद्रित एक हालिया सर्वे के नतीजे पेश किए हैं। FedEx की ओर से इस सर्वे को स्वतंत्र रिसर्च फर्म डन एंड ब्रैडशीट (D&B) इंडिया ने किया ताकि SMEs के बीच कोविड-19 महामारी के दौरान ई-कॉमर्स और डिजिटल ट्रेंड्स की पहचान की जा सके।

इस सर्वे में पता चला कि ई-कॉमर्स बिक्री में हुई बढ़ोत्तरी की वजह से भारतीय SMEs काफी आशावादी हैं। लॉकडाउन शुरू होने के बाद से 30% छोटे उद्योगों और 40% मझोले उद्योगों ने अपनी ई-कॉमर्स बिक्री में बढ़ोत्तरी की बात मानी। महामारी और उससे उपजी पाबंदियों के कारण ई-कॉमर्स के प्रति लोगों के नज़रिये में बदलाव आया है। इस सर्वे में शामिल 35% छोटे उद्योगों और 54% मझोले उद्योगों का मानना है कि कोविड-19 के बाद भी ई-कॉमर्स बिक्री से उनकी आर्थिक तरक्की होगी।

इन त्योहारों के मौसम में, SMEs अपनी ई-कॉमर्स क्षमता में इज़ाफा कर रहे हैं और अच्छी बिक्री की उम्मीद में अपनी ऑनलाइन शॉपिंग रणनीति में सुधार ला रहे हैं। सर्वे में शामिल 34% SMEs ज़बरदस्त पीक सीज़न डिमांड की उम्मीद कर रहे हैं। ये नतीजे रेडसीयर द्वारा प्रकाशित उन नतीजों से मेल खाते हैं, जिनमें कहा गया था कि इस साल भारत में पीक सीज़न सेल्स दोगुनी होकर करीब 7 बिलियन डॉलर तक जा सकती है। पिछले साल इस सीज़न में यह आंकड़ा 3।8 बिलियन डॉलर था। ई-कॉमर्स बिक्री में बढ़ोत्तरी जारी रहने की उम्मीद के चलते FedEx द्वारा कराए गए इस सर्वे में भाग लेने वाले 80% मझोले और 58% लघु उद्योगों का यह मानना है कि ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म्स पर खरीददारी का यह बढ़ा हुआ चलन महामारी के बाद भी जारी रहेगा।

इसके अलावा SMEs डिजिटल समाधान भी अपना रहे हैं। सर्वे में 76% लघु और 60% मझोले उद्योगों ने कहा कि महामारी की शुरुआत से ही उनके डिजिटल भुगतान में बढ़ोत्तरी हुई है। तो वहीं डिजिटल वॉलेट्स का इस्तेमाल भी बढ़ा है। (7%) मध्यम उद्योगों के मुकाबले (28%) छोटे उद्योगों में इसके इस्तेमाल की दर सबसे ज्यादा है।

सर्वे के नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए भारत में FedEx Express के वाइस प्रेसिडेंट – ऑपरेशंस, मोहम्मद सायेघ ने कहा कि, “कोविड-19 के दौरान हमने पाया कि ग्राहक घर बैठे ज्यादा शॉपिंग कर रहे हैं। इन त्योहारों में भी यात्रा पर पाबंदियों और वायरस की रोकथाम के प्रयासों के कारण लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के यहां भी कम ही जा पाएंगे। इसीलिए इस साल, लोग निजी रूप से उपहार देने की बजाय ज्यादातर उपहार शिप यानि कुरियर करेंगे।”

साथ ही उन्होंने यह भी कहा “ई-कॉमर्स बिक्री में बढ़ोत्तरी जारी रहने की उम्मीद को देखते हुए FedEx, उद्योगों के साथ मिलकर ग्राहकों को इस बात के लिए प्रोत्साहित कर रहा है कि वे शॉपिंग करें और सामान जल्दी शिप करें। हमें पूरा यकीन है कि हमारा ग्लोबल और घरेलू नेटवर्क, हर बिज़नेस और ग्राहक की मांग पूरी कर सकता है”।

ऑनलाइन खरीददारी और बिक्री करने वाले बिज़नेस और ग्राहकों के लिए तेज़ और सुरक्षित डिलिवरी की भी अपनी अहमियत है। सर्वे में यह बात भी उभर कर आई कि 41% SMEs का मानना है कि उनके ग्राहक जल्दी डिलिवरी के लिए ज्यादा पैसे भी दे सकते हैं। ऐसे में अधिकतर व्यवसाय सही और ऐसे लॉजिस्टिक सर्विस प्रोवाइडर के चुनाव को वरीयता देते हैं जो उनके व्यापार वृद्धि में मदद करने के साथ ही उनके शिपमेंट्स को समय पर पहुंचाए।

उद्यमियों और छोटे उद्योगों की मदद का FedEx का एक लंबा इतिहास रहा है। साथ ही हम उन्हें पूरी तरह क्षमतावान बनाने में सहायता करने को प्रतिबद्ध हैं। FedEx ने भारत में स्मॉल बिज़नेस ग्रांट कॉन्टेस्ट के कई एडिशन आयोजित किए हैं। इसका मकसद है छोटे उद्योगों को प्रेरणा और आर्थिक संसाधन उपलब्ध करवाना ताकि वे अपने बिज़नेस को पूरी दुनिया में ले जा सकें। साथ ही उनकी पहुंच बढ़ाना और उन्हें ज्यादा प्रतिस्पार्धात्मक बनाना।

FedEx ने SME कनेक्ट सीरीज़ भी आयोजित की है, जो कि एक सूरत, उदयपुर और चेन्नई के SME ग्राहकों के लिए जानकारी बांटने और वैचारिक नेतृत्व का मंच उपलब्ध कराता है। SME कनेक्ट सीरीज़ इन उद्योगों को एक ऐसा मंच देता है जहां उन्हें अपने बिज़नेस के लिए सहायता और भविष्य के विकास के रास्ते ढूंढने के लिए इंडस्ट्री के जानकारों के साथ बातचीत करके समाधान तलाशने का मौका मिलता है।

(रिपोर्टःयोगेश अग्रवाल.9810366590)

योगेश अग्रवाल - 9810366590

नवभास्कर न्यूज़ एक माध्यम है आप की बात आप तक पहुंचने का!