31 अक्टूबर को आकाश में दिखाई देगा अद्भभुत नजारा। 76 साल बाद होगा ये चमत्‍कार

नवभास्कर न्यूज.नई दिल्‍ली(योगेश अग्रवाल):  31 अक्टूबर की रात को आकाश मेें लोग ब्लू मून देख सकेंगे। 76 साल बाद ये चमत्‍कार  होगा। इस रात को आसमान में कई शानदार नजारे दिखाई देंगे।

दुनिया भर के लोग 31 अक्टूबर को ब्लू मून देखेंगे। अंतरिक्ष से जुड़े लोगों के बीच भी इसे लेेेकर खासा उत्साह है।  ऐसा नजारा कई सालों बाद देखने को मिलेगा। ऐसा कहा जाता है कि 30 वर्षों में पहली बार ब्लू मून एक रात में दुनिया भर में दिखाई देगा। इसे पहले भी कुछ जगहों पर देखा गया है। लेकिन 30 साल बाद पूरी दुनिया ब्लू मून को एक साथ देखेगी।

2039 में फिर दिखेगा यही नजाराः 31 अक्टूबर 2020 के बाद लोग आने वाले 19 वर्षों के लिए ब्लू मून नहीं देखेंगे, लोग हेलोवीन के दिन इस दृश्य का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।2020 के बाद ब्लू मून अब 2039 में देखा जाएगा। कहा जाता है कि यह दृश्य द्वितीय विश्व युद्ध के समय पूरी दुनिया में देखा गया था। इसका मतलब है कि लोग इसे 76 साल बाद अब फिर से देख पाएंगे।

क्यों कहा जाता है ब्लू मूनः इस चंद्रमा का नाम ब्लू मून है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि यह नीला दिखेगा। जब भी पूनम यानी पूर्णिमा एक महीने में 2 बार दिखाई देती है, उसे ब्लू मून कहा जाता है। 2020 में अक्टूबर के महीने में लोग दो बार पूर्णिमा भी देखेंगे। पहली पूर्णिमा 1 अक्टूबर को और दूसरी पूर्णिमा 31 अक्टूबर को होगी। यह संयोग शायद ही कभी होता है। आमतौर पर साल में 12 पूर्ण चंद्रमा होते हैं इस बार यह 13 हो जाएगा।अर्थ स्काई की एक रिपोर्ट के अनुसार, ब्लू मून नाम का एक नीला चांद सोशल मीडिया पर दिखाया जाता है, जोकि सत्य नहीं है। ब्लू मून 1944 में देखा गया था, लेकिन यह नीला नहीं था। इस साल का ब्लू मून उत्तर-दक्षिण अमेरिका के अलावा भारत, यूरोप और एशिया के अन्य देशों में भी देखा जाएगा।

 

योगेश अग्रवाल - 9810366590

नवभास्कर न्यूज़ एक माध्यम है आप की बात आप तक पहुंचने का!