रिसर्च प्रयोगशालाओं से निकलकर फील्ड्स में जानी चाहिए एवं वह समाज के लोगों के लिए उपयोगी होनी चाहिए:डॉ कृष्ण कांत गुप्ता

अग्रवाल महाविद्यालय ने किया तरंग-गोष्ठी का आयोजन नवभास्कर न्यूज़.फरीदाबाद(11 जून): अग्रवाल महाविद्यालय की विज्ञान संकाय ने इंडियन सोसायटी ऑफ एनालिटिकल साइंटिस्ट दिल्ली चैप्टर के साथ मिलकर एक तरंग गोष्ठी का आयोजन किया। गोष्ठी का विषय था शोध एवं विकास में विश्लेषणात्मक तकनीकों की भूमिका।

इस संगोष्ठी में विशेषज्ञ वक्ता के रूप में डॉ दिनाकर कांजीलाल, पूर्व निदेशक इंटर यूनिवर्सिटी एक्सलरेटर सेंटर न्यू दिल्ली एवं डॉ अंजन राय निदेशक सीएसआईआर इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ पेट्रोलियम देहरादून रहे। इस संगोष्ठी में देश के भिन्न-भिन्न शोध संस्थानों, विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के 430 प्रवक्ता एवं वैज्ञानिकों ने भाग लिया। इस संगोष्ठी में स्नातकोत्तर कक्षाओं के कुछ विद्यार्थियों ने भी शिरकत की। संगोष्ठी में बोलते हुए प्राचार्य डॉ कृष्ण कांत गुप्ता ने बताया की रिसर्च प्रयोगशालाओं से निकलकर फील्ड्स में जानी चाहिए एवं वह समाज के लोगों के लिए उपयोगी होनी चाहिए।

दिनाकर कांतिलाल ने नैनो टेक्नोलॉजी और नैनो पार्टिकल्स एवं उनको हैंडल करने के लिए उपयोग किए जाने वाले इंस्ट्रूमेंट्स के बारे में विस्तार से बताया। डॉ अंजन राय ने बायोडीजल से उत्पन्न होने वाले प्रदूषण एवं बायोडीजल के प्रयोग के लाभ के बारे में सभी प्रतिभागियों को जागरूक किया। इस अवसर पर इंडियन सोसायटी आफ एनालिटिकल साइंटिस्ट के अध्यक्ष डॉक्टर जी. एस. कपूर एवं सचिव जे क्रिस्टोफर भी मौजूद रहे ।विशेषज्ञ वक्ताओं के वक्तव्य के बाद प्रतिभागियों ने उनसे अपनी जिज्ञासाओं को शांत करने के लिए प्रश्न भी किए ।अंत में धन्यवाद प्रस्ताव ज्ञापित करते हुए कल्याण मंत्र के साथ तरंग गोष्ठी का समापन किया गया।

(रिपोर्टःयोगेश अग्रवाल.9810366590)

विज्ञापन

योगेश अग्रवाल - 9810366590

नवभास्कर न्यूज़ एक माध्यम है आप की बात आप तक पहुंचने का!