मानव अधिकार संरक्षण संघ टीम ने गाँधी कालोनी मेें किया गिलोय पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित। जानिए क्या हैं गिलोय के फायदे

नवभास्कर न्यूज. फरीदाबादः  मानव अधिकार संरक्षण संघ की टीम ने मंंगलवार को गाँधी कालोनी मेें पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित किया। टीम ने लोगोंं को वृक्षारोपण के प्रति जागरूक करने के लिए संदेश दिया कि “वृक्षारोपण है प्रकृति का मान, आओ पेड़ लगाकर करो इसका सम्मान”

इस दौरान मानव अधिकार संरक्षण संघ की टीम ने प्राकृतिक औषधिय गुणों से भरपूर ग्लोय की पौध लगाई।  30 ग्लोय की पौध नगर निगम कार्यालय, प्राइमरी स्कूल तथा तीन पार्कों में लगाई गई। जिला अध्यक्ष गुलबीर सिंह ने कहा कि मानव अधिकार संरक्षण संघ टीम फरीदाबाद के अन्दर इतनी ग्लोय लगा देगी कि हर छोटे बडे सबको आसानी से उपलब्ध हो सके। इस दौरान हेमराज शर्मा अध्यक्ष बल्लभगढ, विवेक शर्मा अध्यक्ष बड़खल, समाजसेवी सतपाल प्रजापति व चंदर भाटिया निवासी गांधी कॉलोनी एवम स्थानीय निवासी मौजूद रहे।

गिलोय के फायदेः गिलोय अमृता, अमृतवल्ली अर्थात् कभी न सूखने वाली एक बड़ी लता है। इसका तना देखने में रस्सी जैसा लगता है। इसके कोमल तने तथा शाखाओं से जडें निकलती हैं। इस पर पीले व हरे रंग के फूलों के गुच्छे लगते हैं। इसके पत्ते कोमल तथा पान के आकार के और फल मटर के दाने जैसे होते हैं। यह जिस पेड़ पर चढ़ती है, उस वृक्ष के कुछ गुण भी इसके अन्दर आ जाते हैं। इसीलिए नीम के पेड़ पर चढ़ी गिलोय सबसे अच्छी मानी जाती है। आधुनिक आयुर्वेदाचार्यों (चिकित्साशात्रियों) के अनुसार गिलोय नुकसानदायक बैक्टीरिया से लेकर पेट के कीड़ों को भी खत्म करती है। टीबी रोग का कारण बनने वाले वाले जीवाणु की वृद्धि को रोकती है। आंत और यूरीन सिस्टम के साथ-साथ पूरे शरीर  को प्रभावित करने वाले रोगाणुओं को भी यह खत्म करती है।

(रिपोर्टःयोगेश अग्रवाल.9810366590)

योगेश अग्रवाल - 9810366590

नवभास्कर न्यूज़ एक माध्यम है आप की बात आप तक पहुंचने का!