फरीदाबाद अदालत में 14 साल पहले हुए गोलीकांड को लेकर हुई महापंचायत। पढिये क्या निर्णय हुआ महापंचायत में।

नवभास्कर न्यूज. फरीदाबादः फरीदाबाद बार एसोसिएशन में 14 साल पहले हुए गोलीकांड को लेकर पूर्व मंत्री चौधरी महेंद्र प्रताप सिंह के फार्म हाउस पर महापंचायत का आयोजन हुआ। पंचायत में चौधरी महेंद्र प्रताप सिंह के अतिरिक्त प्रदेश के पूर्व मंत्री चौधरी करण सिंह दलाल,  पृथला के पूर्व विधायक टेकचंद शर्मा, भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, हरियाणा के परिवहन मंत्री पंडित मूलचंद शर्मा के बड़े भाई पंडित टिपर चंद शर्मा, कांग्रेस के प्रदेश सचिव सुमित गौड़, रोहताश पहलवान, वकील राकेश भड़ाना, ओपी शर्मा एडवोकेट, एडवोकेट केसी तेवतिया सहित जिले के कई प्रमुख नेता और सामाजिक लोग मौजूद रहे।

इस दौरान सभी ने सर्वसम्मति से चौधरी महेंद्र प्रताप सिंह के प्रस्ताव के बाद पुलिस सुधार आयोग के पूर्व चेयरमैन एचएस राणा को महापंचायत का अध्यक्ष चुना।

गौरतलब है कि 2006 में कैंटीन व पार्किंग के ठेके को लेकर हुए विवाद में फरीदाबाद नगर निगम के वर्तमान पार्षद राकेश भड़ाना गोली लगने से घायल हुए थे। इस मामले में न्यायालय ने फरीदाबाद के प्रमुख अधिवक्ता ओपी शर्मा तथा उनके पुत्र सहित चार लोगों को सजा सुनाई थी। यह गोलीकांड काफी सुर्खियों में रहा और इसके कारण इलाके में सामाजिक तनातनी स्पष्ट देखने को मिल रही थी।

पंचायत रविवार सुबह 11 बजे शुरू हुई जो शाम 5 बजे तक चली। तीन घंटों तक फार्म हाउस के बाहर पूरी सरदारी के सामने पंचों और पक्षों ने अपनी-अपनी बात रखी। उसके बाद में पंचायत के 11 पंचों ने बंद कमरे में वार्ता की और मामले को सिरे चढ़ाने का प्रयास किया।ओपी शर्मा ने माफी मांगते हुए कहा कि पंचायत जो भी निर्णय करेगी,उन्हें पंचायत का निर्णय मंजूर होगा। 

वहीं राकेश भड़ाना के समर्थकों का कहना था कि उन्हें अपने पक्ष के अन्य प्रभावितों से मशविरा करने का समय मिलना चाहिए। किंतु पूर्व मंत्री चौधरी महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि इलाके की भलाई के लिए यह आवश्यक है कि इस विवाद को निपटाया जाना चाहिए। एक ऐसी मिसाल पेश की जानी चाहिए जो आगे आने वाली पीढ़ियां उसे याद रखें और यह मानें कि समाज और सामाजिकता से बढ़कर कुछ नहीं है।

पंचों ने चौधरी महेंद्र प्रताप सिंह को पंचायत का निर्णय सुनाने के लिए कहा, किंतु उन्होंने करण सिंह दलाल को इसके लिए अधिकृत किया। पूर्व मंत्री दलाल ने दोनों पक्षों से पंचायत के निर्णय को मानने की पूर्ण सहमति लेने के बाद कहा कि पंचायत में तय हुए प्रावधान के अनुसार सबसे पहले ओपी शर्मा एडवोकेट माफी मांगें।

इस पर ओपी शर्मा ने दोनों हाथ जोड़कर कहा कि वे अपनी गलती के लिए माफी मांगते हैं। करण दलाल ने कहा कि अब पंचायतों द्वारा तय बिंदु के अनुसार मंगलवार को सुबह 11 बजे बार एसोसिएशन के कार्यालय में 11 सदस्यीय समिति पहुंचेगी, जहां इस विवाद के विषय में कोई भी पक्ष अपनी बात नहीं रखेगा। बार में सिर्फ दोनों पक्षों को केवल गले मिलना होगा।

(रिपोर्टःयोगेश अग्रवाल)

योगेश अग्रवाल - 9810366590

नवभास्कर न्यूज़ एक माध्यम है आप की बात आप तक पहुंचने का!