नगर निगम एवं जिले के विधायक, मंत्री व सांसद की कडी मेहनत का नतीजा,स्मार्ट सिटी फरीदाबाद हुआ देश भर के सबसे गंदे शहरों में शामिल

नवभास्कर न्यूज.फरीदाबादः नगर निगम प्रशासन एवं जिले के विधायक, मंत्री व सांसद की कडी मेहनत का नतीजा है कि अपना स्मार्ट सिटी फरीदाबाद अब देश भर के सबसे गंदे शहरों की लिस्ट में शामिल हो गया है। कहां तो जिले के विधायक फरीदाबाद को इंदौर जैैसा साफ शहर बनाने का सपना लोगों को दिखा रहेे थे किंंतु साफ शहरो में नंं वन बनना तो दूूूर फरीदाबाद टाप टेन मेें भी नहीं आ सका।
गंदे शहरों में दसवें नंबर पर फरीदाबादः एक सर्वे में देश भर के दस साफ और गंदे शहरों को चुना गया है। गंदे शहरों में पटना, पूर्वी दिल्ली, चेन्नई, कोटा, उत्तरी दिल्ली, मदुरई, मेरठ, कोयंबॅटूर, अमृतसर व स्मार्ट सिटी फरीदाबाद का नाम शामिल किया गया है। इस सर्वे में इन शहरों को देश के सबसे गंदे शहरों का दर्जा दिया गया है। यानि कि इन शहरों में सफाई को लेकर किए जा रहे सभी सरकारी दावे पूरी तरह से फेल हो गए हैं। इन शहरों में चारों ओर गंदगी के ढेर हैं, जिनकी सफाई के लिए कोई काम नहीं किए जा रहे। इसलिए सर्वे में इन दस शहरों को सबसे गंदा शहर बताया गया है।
देश के सबसे साफ शहरःदेश भर के सबसे साफ शहरों में इंदौर, सूरत, नवी मुंबई, विजयवाड़ा, अहमदाबाद, राजकोट, भोपाल, चंडीगढ़, विशाखापटनम और वडोदरा को शामिल किया गया है। सर्वे में कहा गया है कि इन शहरों की साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया गया है। यही कारण है कि इन शहरों में गंदगी के ढेर नाममात्र को हैं और इन शहरों को साफ रखने में स्थानीय निकायों का विशेष योगदान है। इसलिए इन शहरों को सबसे सुंदर शहरों का दर्जा दिया गया है। 
फरीदाबाद का गंदे शहरो की लिस्ट में शामिल होने का मुख्य कारणः शहर की साफ सफाई की जिम्मेदारी इको ग्रीन कंपनी पर है। चीन की इस कंपनी ईकोग्रीन को फरीदाबाद में कोई दिक्कत और परेशानी ना हो इसके लिए सरकार ने भरपूर प्रयास किए। वह जैसे भी काम कर रही है, उसे करने दिया जाए। चाहे यह चाईनीज कंपनी कूडा उठाए या ना उठाएं, मगर उसके भुगतान में कोई रोड़ा नहीं अटकना चाहिए। सरकार, नगर निगम फरीदाबाद व स्थानीय सत्ताधारियों की मेहनत अब सफल हो गई है। ईकोग्रीन को कूडा कर्कट ना उठाने की एवज में करोड़ों रुपए का भुगतान इसलिए किया गया, ताकि यह शहर गंदगी मुक्त ना हो सके। इस औद्योगिक नगरी में रहने वाले लाखों लोगों को साफ शहर में रहने की आदत ना हो जाए। इसलिए नगर निगम व सत्ताधारी नेताओं की मुहिम रंग ले आई और फरीदाबाद को सबसे गंदे शहरों में शामिल कर लिया गया। फरीदाबाद के  लिए राहत की बात यह है कि गंदे शहरों की सूची में इसे नंबर-10 पर रखा गया है। यानि कि गंदगी में फरीदाबाद अंतिम पायदान पर है। 
(रिपोर्टःयोगेश अग्रवाल)

योगेश अग्रवाल - 9810366590

नवभास्कर न्यूज़ एक माध्यम है आप की बात आप तक पहुंचने का!

One thought on “नगर निगम एवं जिले के विधायक, मंत्री व सांसद की कडी मेहनत का नतीजा,स्मार्ट सिटी फरीदाबाद हुआ देश भर के सबसे गंदे शहरों में शामिल

  • August 22, 2020 at 4:32 pm
    Permalink

    धन्य हैं स्थानीय नेताओं की लंबी लाइन,महा ईमानदार अफसर और कड़ी मेहनत करने वाली जनता।

Comments are closed.